मानव संसाधन विकास मंत्रालय की योजना के तहत प्रतिकुलपति प्रो. अनिल कुमार राय जाएंगे सिंगापुर

शिक्षाविद नेतृत्व कार्यक्रम के तहत बीएचयू व नन्यांग टेक्नॉलॉजिकल विवि, सिंगापुर में होगा प्रशिक्षण शैक्षणिक संस्थानों में अग्रणी नेतृत्व प्रदान करने की योग्यता का होगा विकास कुलपति प्रो. संजीव कुमार शर्मा ने जताई प्रसन्नता, कहा- विवि के विकास में मिलेगी मदद मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार की प्रतिष्ठित कार्य योजना ‘शिक्षाविद नेतृत्व कार्यक्रम-लीप’ के तहत विशेष प्रशिक्षण के लिए महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय के प्रति कुलपति प्रो. अनिल कुमार राय का चयन किया गया है। लीडरशीप फॉर एकेडमिशियन प्रोग्राम में सहभागिता करने के लिए प्रो. राय 6 अक्टूबर 2019…

Read More

मशाल बनाम कुल्हाड़ी

तरुण प्रकाश श्रीवास्तव, सीनियर एग्जीक्यूटिव एडीटर-ICN ग्रुप  आखिर एक समाज में पत्रकारिता की क्या भूमिका होनी चाहिए? क्या मात्र तथ्य को तथ्य रूप में प्रस्तुत से और सत्य को सत्य कहने से पत्रकारिता की भूमिका का निर्वहन हो जाता है अथवा पत्रकारिता इससे भी आगे की चीज है? ‘समाज कैसे यात्रा करता है?’ प्रश्न रोचक था लेकिन अत्यंत गंभीर भी। जब यह प्रश्न मेरे सामने आया था तो कुछ देर तक तो मैं मात्र प्रश्न को समझने और उसकी तह में जाने की कोशिश करता रहा और कुछ पलों के…

Read More

क्या हिंदी राष्ट्र भाषा है ?

सत्येन्द्र कुमार सिंह, एडीटर-ICN UP 26 जनवरी 1950 को भारत का अपना संविधान बना तब यह माना गया कि धीरे-धीरे हिंदी अंग्रेजी का स्थान ले लेगी और अंग्रेजी पर हिन्दी का प्रभुत्व होगा किन्तु कानून के अनेक मूल भावनाओं की तरह यह भी अपना उचित स्थान नहीं प्राप्त कर सका है| ये प्रश्न बड़ा अटपटा लग सकता है कि देश की सबसे ज्यादा बोले जानी वाली भाषा हिंदी (४१%-जनगणना २००१) भारत की राष्ट्रभाषा तो है ही नहीं| जी हाँ, यह सच है| गुजरात उच्च न्यायालय ने सन २०१० में यह स्वीकारते हुए…

Read More

अधूरा अंत

सत्येन्द्र कुमार सिंह, एडीटर-ICN UP    छुपे जो राज़ मन में, उसे दिखाने की तरकीब ज़रा बताओ ना । जो हक समझता हूँ तुम पर, उसे जतलाने की तरकीब जरा बताओ ना । आत्मा तक महसूस करता मै तुम्हे और करीब लाने की तरकीब ज़रा बताओ न । अरमान दिल के दिल तक ना सिमट जाए, अधूरे अंत से बचने की तरकीब ज़रा बताओ ना ।

Read More

जिऊतिया विशेष

 आकृति विज्ञा ‘अर्पण’ खपड़हवा घरे के अरगनि बतावति रहे कि अम्मा ( ईया) के हाली जिऊतिया भूखल रहली। सब माई धिया पूतवन के जिऊतिया के बधाई बा। भिनसहरवें सगरी बदे माई जगावेली स । भल हमनो जस जस बड़वर ( देहीं से उमिर से ) हो तानी जां ओईसे ओईसे एक्को बतियो न तर डालेनी सन। हमें होस परत बा जे चारो भाई बहिन जाईं सरधा के अम्मा ( पूने वाली ) के बोलावे बड़का बाऊ जी के घर के पिछवारे से होत के छोटकी देवालि फांगि के जाईं सन…

Read More

मनी सिरीज–(8)

तरुण प्रकाश श्रीवास्तव, सीनियर एग्जीक्यूटिव एडीटर-ICN ग्रुप कृपया ऐसे विचार अपने पास भी न फटकने दें कि धन मात्र अपवित्र हो कर अथवा अन्याय का पक्ष लेकर ही अर्जित किया जा सकता है अथवा प्रत्येक धनी व्यक्ति क्रूर और निरंकुश है और उसने सारा धन समाज के निर्बल पक्ष का शोषण करके ही अर्जित किया है।  यद्यपि कुछ ऐसे व्यक्ति हो सकते हैं किन्तु उनकी सफलता मात्र अस्थायी ही है। समाज के शीर्ष पर सफलता के सिंहासनों पर आसीन व्यक्तियों के जीवन पर एक दृष्टि डालें तो आप पाएंगे कि वे…

Read More

गौप्टा © द्वारा उत्कृष्टता – भाग 6 (समय खाते का विश्लेषण)

डॉ. संजय कुमार अग्रवाल, सीनियर एसोसिएट एडिटर, आई.सी.एन. ग्रुप  [पिछले लेख में हमने देखा कि आपका समय आखिर जाता कहां है। आज हम जानेंगे कि समय खाते का विश्लेषण कैसे करें।]  अपने समय खाते का विश्लेषण करें अपने समय खाते का विश्लेषण करें ताकि आप यह पहचान सकें कि:- आपके निजी जीवन में तीन सबसे अधिक समय लेने वाली गतिविधियां कौन सी हैं, चाहे घर में या बाहर; आपके कार्यालय / व्यावसायिक जीवन में तीन सबसे अधिक समय लेने वाली गतिविधियां कौन सी हैं; तीन सबसे अधिक समय लेने वाली…

Read More

सम्पूर्ण उत्तर प्रदेश में पर्यटन की असीम संभावनाएं: योगी

राणा अवधूत कुमार/शैलेंद्र सिंह।आईसीएन मीडिया लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के इंदिरा गांधी सभागार में शुक्रवार को तीर्थाटन-पर्यटन को लेकर संवाद कार्यक्रम का आयोजन हुआ. हिन्दुस्तान समाचार एजेंसी द्वारा आयोजित कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रहे. मुख्यमंत्री ने बङे सरल-सहज शब्दों में प्रदेश में तीर्थाटन के सात बङे स्थलों के समुचित विकास की परिकल्पना सभागार में मौजूद लोगों के सामने रखी. तीर्थाटन व पर्यटन को परस्पर जोङते हुए मुख्यमंत्री ने एक-दूसरे का पूरक बताया. उन्होंने कहा कि मथुरा, काशी व अयोध्या में तीर्थाटन की संभावना है तो…

Read More